उत्तर प्रदेशब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

बैनामे में चौहद्दी बदलकर विधवा की जमीन हड़पने की कोशिश कर रहा जिला पंचायत अध्यक्ष का पति रोहित सिंह

मामला प्रकाश में आने के बाद आरोपी जिला पंचायत अध्यक्ष के पति ने फोन किया स्विच ऑफ

English English Hindi Hindi

 

अयोध्या।
जिला पंचायत अध्यक्ष रोली सिंह के पति आलोक सिंह उर्फ रोहित सिंह पर राजस्व कर्मियों और पुलिस प्रशासन पर दबाव बनाकर विधवा महिला का उत्पीड़न कर उसकी जमीन को जबरिया कब्जा करने का गंभीर आरोप लगा है।

ताज़ा मामला बरहटा माझा की गाटा संख्या 656 का है । मुख्यमंत्री को लिखे शिकायती पत्र के अनुसार विधवा महिला पूनम पाठक के पति स्व वीरेन्द्र पाठक ,अशोक पाठक और किरन पाठक ने 1 बिस्वा 20 धुर का एक पंजीकृत संयुक्त बैनामा वर्ष 1997 में करवाया था। जो राजस्व अभिलेखों में भी दर्ज है । वर्ष 2002 में किरण पांडेय ने अपने हिस्से पर अपना मकान बनवा लिया था। उसी समय वीरेंद्र पाठक ने भी अपनी बाउंडरी और गेट लगवा लिया था। अशोक पाठक का प्लाट तबसे आज तक खाली पड़ा है। वर्ष 2006 में लिखित बटवारा भी किरण पांडेय अशोक पाठक और वीरेंद्र पाठक के मध्य हुआ था जिसमे सभी के हस्ताक्षर गवाहों के समक्ष हैं और सभी अपने हिस्से पर काबिज थे।

IMG_20220625_182222
IMG-20220722-WA0034
e6d
IMG-20220621-WA0013

 

वर्ष 2016 में अशोक कुमार पाठक से रामसेन सिंह जो जिलापंचायत अध्यक्ष के पिता है। उन्होंने एक पंजीकृत बैनामा लिया था। लेकिन षड्यंत्र पूर्वक चौहद्दी वीरेंद्र पाठक के प्लाट की लिखवा दिया था। जिसका पता शिकायतकर्ता महिला को 2 सप्ताह पूर्व चला जब वो अपने प्लाट पर कुछ निर्माण कार्य करवाने गयी। जिला पंचायत अध्य्क्ष के 5-6 लोग विवाद उत्पन्न करने लगे और उसके कार्य को जबरदस्ती रुकवा दिया। पीड़ित महिला पूनम पाठक ने घटना की शिकायत नयाघाट चौकी इंचार्ज तथा सहायक अभिलेख अधिकारी से 5 जुलाई को की। जिसपर लेखपाल कानून गो से स्थलीय निरीक्षण कर आख्या मांगी गई जिसके अनुपालन में राजस्व टीम मौके और अभिलेखों की जांच कर लिखित रिपोर्ट 22 जुलाई को दे दी । जिसके अनुसार पीड़ित महिला अपने अंश की भूमि पर बैनामे के समय से ही काबिज है तथा मौके पर उसकी बाउंडरी वाल गेट लगा है । मोहल्लेवासियों ने भी इसकी पुष्टि की है। इस आख्या पर लेखपाल , कानून गो और सहायक राजस्व अधिकारी के हस्ताक्षर भी है। जिला पंचायत अध्यक्ष पति इस रिपोर्ट को मानने को तैयार नही है। वो पीड़ित महिला को निर्माण कार्य नही करने दे रहा है। उसकी भूमि पर जबरन कब्जा करना चाहता है । पीड़ित महिला ने क्षुब्ध होकर अपनी शिकायत जिलाधिकारी सहित मुख्यमंत्री उत्तरप्रदेश से की है ।

जब इस सम्बंध में जिला पंचायत अध्यक्ष के पति रोहित सिंह से उनके मोबाइल नम्बर पर बात करने की कोशिश की गई तो उनका नम्बर स्विच ऑफ हो गया।

Related Articles

Back to top button