contact@newsblast.in

Monday, 25th March 2019

पिछले दस माह से चल रही थी बजरंगी को बागपत जेल में मारने की प्लानिंग

कुमार संजय त्यागी
विशेष प्रतिनिधि, न्यूजब्लास्ट
बागपत। कुख्यात माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी को बागपत में मारने की प्लानिंग पिछले दस माह से चल रही थी। इसी प्लानिंग के तहत एक पूर्व विधायक लोकेश दीक्षित ने पूर्वांचल के अपने एक मित्र के कहने पर बजरंगी के खिलाफ मुकदमा लिखाया था। लोकेश के संबंध कुख्यात माफिया सरगना ब्रजेश सिंह के भतीजे सुशील सिंह से हैं। सुशील सिंह इस समय भाजपा से विधायक हैं। वह पूर्व में लोकेश के साथ बसपा से भी विधायक रह चुके हैं।

बजरंगी की बागपत जेल में दस गोलियां मारकर हत्या होने से पुलिस प्रशासन ही नहीं अपराध जगत भी सन्न है। योगी सरकार में प्रचारित किया गया कि अपराधी बेल नहीं जेल चाहते हैं। लेकिन जेल में किसी का इस प्रकार मर्डर हो सकता है यह पूरी तरह से अप्रत्याशित था। अपराधी किसी भी तरह की सहानुभूति का पात्र नहीं होता है। लेकिन जेल में उसकी इस तरह की हत्या को किसी भी तरह जायज नहीं ठहराया जा सकता।

किसी के इशारे पर लिखाया था लोकेश ने मुकदमा !

वेस्ट यूपी की सियासत या अपराध जगत से मुन्ना का सीधा वास्ता नहीं था। हालांकि वेस्ट यूपी में उसके मित्रों या शुभचिंतकों की कोई कमी नहीं थी। जब लोकेश दीक्षित ने मुन्ना के खिलाफ बागपत में रंगदारी मांगने और जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा लिखाया था तभी अपराध जगत और पुलिस विभाग ने इस पर विश्वास नहीं किया था। यह सारा खेल प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद हुआ था। बजरंगी और ब्रजेश सिंह की गिनती प्रदेश के धुर विरोधी माफियाओं में होती है। ब्रजेश के भतीजे सुशील सिंह लगातार तीसरी बार विधायक हैं। पहले वह बसपा के टिकट पर फिर निर्दलीय और इस बार भाजपा के टिकट पर विधायक चुने गए हैं। लोकेश और विधायक सुशील सिंह के संबंधों की जांच होना बहुत ही आवश्यक है तभी इस मामले की परतें खुलेंगी।

ब्रजेश पर है भाजपा के कई बडों का आर्शीवाद

डॉन ​ब्रजेश सिंह की केंद्र सरकार के एक कददावर मंत्री से नजदीकी किसी से छिपी नहीं है। यही नहीं भाजपा के संगठन के एक बडे पुरोधा से भी उनकी जबर्दस्त ‘सैटिंग’ मानी जाती है। इसी ‘सैटिंग’ के दम पर ब्रजेश अपने भतीजे को भाजपा से टिकट दिलाने में कामयाब रहा था।

क्या प्लानिंग के तहत आया था ठाकुर जेलर

अपराध जगत के सूत्रों का तो यहां तक कहना है कि प्लानिंग के तहत बजरंगी के खिलाफ लोकेश से मुकदमा लिखाया गया और फिर प्लानिंंग के तहत ही ब्रजेश और सुशील के नजदीकी ठाकुर बिरादरी के अफसर को बागपत के जेलर की कुर्सी पर बिठवाया गया।

पूर्वांचल से कौन से कैदी हुए बागपत जेल ट्रांस्फर

अपराध जगत के सूत्रों का कहना है कि हाल ही में पूर्वांचल की जेलों में बंद कई अपराधियों को बागपत की जेल में ट्रांस्फर कराया गया। ये सभी अपराधी ब्रजेश सिंह से जुडे हुए बताए जाते हैं।

बलि का बकरा तो नहीं सुनील राठी

अपराध जगत के सूत्रों का कहना है कि यह एक बडे स्तर की साजिश है जिसमें अपराधी, अफसर और सत्ताधारी नेताओं का गठजोड है। सुनील राठी भी इस हत्याकांड के लिए लिए जिम्मेदार हो सकता है और यह भी संभव है कि उसे इस मामले में बलि का बकरा बनाया जा रहा हो। न्यूजब्लास्ट इस पूरे मामले पर नजर बनाए हुए है।

 

Leave a Reply

*

%d bloggers like this:

Powered by themekiller.com