13 C
Patna
Monday, March 1, 2021

Latest News

BSEB Bihar Board Matric Exam 2021 : बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में एक बेंच पर बैठेंगे दो परीक्षार्थी

BSEB Bihar Board Matric Exam 2021 : बिहार बोर्ड मैट्रिक की वार्षिक परीक्षा पर भी कोविड-19 का असर दिखेगा। परीक्षा कक्ष में प्रत्येक बेंच पर अधिकतर दो परीक्षार्थी बैंठेंगे। एक बेंच से दूसरे बेंच के बीच दो से तीन फीट की दूरी रखी जाएगी। ये निर्देश बिहार बोर्ड द्वारा सभी परीक्षा केंद्रों को भेजे गए हैं। बोर्ड की मानें तो परीक्षा कक्ष में एक रौल कोड के सभी परीक्षार्थी रौल नंबरवार आरोही क्रम में बैंठेंगे। छात्र के रौल नंबर के अनुसार ही उन्हें उत्तरपुस्तिका का वितरण किया जाएगा। ज्ञात हो कि परीक्षार्थी का रौल नंबर उत्तरपुस्तिका के अलावा ओएमआर उत्तर पत्रक और उपस्थिति पत्रक पर भी रहेगा। एक रौल कोड के परीक्षार्थी के बाद दूसरे रौल कोड के परीक्षार्थी को बैठाया जाएगा। सीट प्लान की जानकारी परीक्षा केंद्र के मुख्य द्वार पर, नोटिस बोर्ड पर और ब्लैक बोर्ड पर बड़े अक्षरों में अंकित की जाएगी।

इंतजाम
– एक बेंच से दूसरे बेंच के बीच दो से तीन फीट रहेगी दूरी
– प्रथम पाली के लिए 9.20, दूसरी के लिए 1.35 बजे तक प्रवेश

हर दिन वीक्षक का होगा प्रतिनियोजन 
परीक्षा केंद्र पर केंद्राधीक्षक, वीक्षक को सुबह सात बजे सीट प्लानिंग के लिए आना होगा। हर दिन परीक्षा के पूर्व केंद्राधीक्षक द्वारा दंडाधिकारी की सहमति से वीक्षकों को कक्षावार प्रतिनियोजित किया जाएगा। गैर शिक्षक एवं अन्य को वीक्षण कार्य में नहीं लगाया जाएगा। जिन स्कूलों के परीक्षार्थी जिस परीक्षा केंद्र से संबद्ध हो, उस स्कूल के शिक्षक को दूसरे स्कूल में नियुक्त किया जाएगा।

25 छात्र पर एक वीक्षक
प्रत्येक 25 परीक्षार्थी पर एक वीक्षक की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। एक परीक्षा हॉल में कम से कम दो वीक्षक अनिवार्य रूप से रहेंगे। बोर्ड की मानें तो वीक्षक के रूप में कॉलेज और हाई स्कूल के शिक्षक के अलावा प्राथमिक और मध्य विद्यालय के शिक्षकों को भी लगाया जाएगा।

केंद्र पर प्रवेश में परिवर्तन 
बोर्ड ने परीक्षा केंद्र प्रवेश के समय में परिवर्तन किया है। परीक्षार्थी को परीक्षा शुरू होने के कम से कम दस मिनट पहले तक प्रवेश मिलेगा। प्रथम पाली के परीक्षार्थी को परीक्षा शुरू होने के दस मिनट पहले यानी 9.20 बजे तक और दूसरी पाली के छात्र को 1.35 बजे तक प्रवेश मिलेगा।

निर्देशों का करना है पालन 
– जूता-मोजा पहन कर नहीं आना है। छात्र चप्पल में परीक्षा देंगे। 
– परीक्षार्थी की जांच तीन बार अलग-अलग समय पर की जाएगी। 
– परीक्षार्थी की तलाशी महिला और पुरुष बल करेंगे।
– प्रवेश पत्र, कलम, पेंसिंल, इंस्ट्रूमेंट बॉक्स लेकर ही अंदर जा सकते हैं।

Source

Latest News

Don't Miss