अयोध्याउत्तर प्रदेशब्रेकिंग न्यूज़

शातिर जालसाज मंजू जायसवाल के विरुद्ध एसएसपी के आदेश पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज़

अयोध्या :पहले तो जालसाज बेटी ने संपत्ति और पैसों की लालच में पिता की मृत्यु के बाद अपनी माँ को अपने ही भाइयों से लड़ाया , माँ को बेटों के घर से निकलवाया फिर माँ की संपत्ति का पंजीकृत सेल एग्रीमेंट एक प्रतिष्ठित व्यवसायी के पक्ष में करवाकर व्यवसायी के लाखों हड़पे अब उसी संपत्ति को विक्रीनामा की शर्तों के ख़िलाफ़ जाकर धोखाधड़ी से अपनी वृद्ध माँ को गुमराह करके जालसाज बेटी ने अपने नाम लिखा लिया और व्यवसायी के 25 लाख हड़प लिए । व्यवसायी की शिकायत पर एसएसपी अयोध्या ने कोतवाली नगर को मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही का आदेश दिया था जिसके उपरांत कोतवाली नगर में उक्त महिला के विरुद्ध धारा 420/467/468/471/406/504/506 ipc में मुकदमा पंजीकृत हुआ है ।

 

विदित हो कि यह मामला नगर फ़ैज़ाबाद के खवासपुरा पंजाब नेशनल बैंक से सटी एक व्यावसायिक दुकान का है ! जिसका बिक्री सौदा भवन स्वामी की बेटी मंजू जयसवाल के द्वारा अयोध्या के प्रतिष्ठित होटल व्यवसायी अनिल द्विवेदी से किया गया और संपत्ति का पंजीकृत एग्रीमेंट ३० लाख रुपये बतौर एडवांस लेकर मंजु जायसवाल की माँ श्रीमती भागीरथी जायसवाल ने व्यवसायी अनिल द्विवेदी के पक्ष में किया था और संपत्ति को विवाद रहित बताते हुए १ वर्ष में क़ब्ज़ा देने के उपरांत बैनामा करवाने की बात मंजु जयसवाल द्वारा कही गई थी मंजु जायसवाल उक्त विक्रय अनुबंध अभिलेख में विक्रेता अपनी माँ की तरफ़ से गवाह भी है ! एग्रीमेंट के बाद शहर के लोगों ने मंजु जायसवाल की करतूतों की वजह से माँ और पुत्रों के विवाद के बारे में अनिल द्विवेदी को बताया दल कई बार संपत्ति पर क़ब्ज़ा देके बैनामा करने हेतु अनिल द्विवेदी द्वारा मौखिक और नोटिस द्वारा बोला गया किंतु माँ की बीमारी का बहाना बनाकर मंजु जयसवाल टालती रही इसी बीच संपत्ति की लोभी बेटी ने अपनी माँ को गुमराहकर पंजीकृत बिक्री अनुबंध की शर्तों के विपरीत जाकर संपत्ति का बैनामा अपने नाम से ही लिखा लिया और व्यवसायी को ३० लाख रुपये हड़प लिए । पीड़ित व्यवसायी ने घटना की शिकायत उच्चाधिकारियों से की है और प्राथमिकी दर्ज करवाने की बात कही है । शहर के लोगो को आगाह भी किया है की उक्त संपत्ति की ख़रीद न करे ।

News Blast

Related Articles

Back to top button